Uncategorized

रेणुका स्वामी मर्डर से पहले एक्टर दर्शन ने पब में की थी पार्टी, कातिलों ने बदले खून से सने कपड़े

बंगलुरु

बंगलुरु के हाई प्रोफाइल रेणुका स्वामी मर्डर केस में हर दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं. इस मामले में पुलिस सूत्रों के द्वारा पता चला है कि कन्नड़ एक्टर दर्शन थुगुदीपा अपने फैन के कत्ल से पहले एक पब में पार्टी कर रहे थे. उस वक्त उनके साथ कन्नड सिनेमा के मशहूर कॉमेडियन चिक्कन्ना भी मौजूद थे. पुलिस ने उनको भी नोटिस जारी करके पूछताछ के लिए बुलाया है. पार्टी करने के बाद दर्शन एक्ट्रेस पवित्रा गौड़ा के साथ मौका-ए-वारदात पर गए थे.

सूत्रों के मुताबिक, दर्शन और पवित्रा बंगलुरु के पट्टनगेरे गांव में स्थित शेड में गए थे, जहां तीन आरोपी रेणुका स्वामी के साथ पहले से मौजूद थे. पवित्रा के सामने ही दर्शन ने रेणुका को बेल्ट से जमकर मारापीटा, उसके बाद उसे आरोपियों के हवाले कर दिया. तीनों ने उसे इतना टार्चर किया कि वो घटनास्थल पर ही मर गया. इस दौरान आरोपियों के कपड़े खून से सन गए, जिसे उन्होंने रिलायंस ट्रेंड्स के स्टोर में जाकर बदला था.

सोमवार को बंगलुरु पुलिस आरोपियों को लेकर रिलायंस ट्रेंड्स के स्टोर गई, जहां क्राइम सीन क्रिएट किया गया. पुलिस उन्हें लेकर मैसूर भी जा सकती है. बताया जा रहा है कि रेणुका स्वामी की सोने की चेन और बटुआ चित्रदुर्ग में एक आरोपी राघवेंद्र के घर पर मिला है. उन्होंने पिटाई के दौरान रेणुका से छीन लिया था. मौत होने के बाद रेणुका के शव को बंगलुरु के कामाक्षीपाल्या के सुमनहल्ली ब्रिज के पास फेंक दिया गया था.

इस मामले में एक स्थानीय अदालत ने शनिवार को दर्शन थुगुदीपा और पवित्रा गौड़ा सहित 10 आरोपियों को 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था. इनमें आरोपी नंबर 1 पवित्रा गौड़ा, 2 दर्शन, 3 पवन, 4 राघवेंद्र, 5 नंदीश, 6 जगदीश, 7 अनु, 10 विनय, 11 नागराजू, 12 लक्ष्मण, 13 दीपक, 14 प्रदोष और 16 केशवमूर्ति का नाम शामिल है. बचे हुए आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था. पुलिस को उनसे अब पूछताछ की जरूरत नहीं है.

पुलिस जांच में पता चला है कि दर्शन भाड़े के हत्यारोपियों से व्हाट्सऐप के जरिए पूरी रात वारदात के दौरान जुड़े हुए थे. रेणुका को अगवा करने के बाद दर्शन के पास लाया गया था, जहां उन्होंने उसे बेल्ट से जमकर मारा-पीटा था. इसके बाद अपराधियों के हवाले कर दिया, जिन्होंने उसे बुरी तरह टार्चर किया. पूरी वारदात को पट्टनगेरे गांव में अंजाम दिया गया. मौका-ए-वारदात से दर्शन के जाते ही रेणुका स्वामी की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई.

इसके बाद एक आरोपी पवन ने व्हाट्सऐप के जरिए इसकी सूचना एक्टर को दी थी. फिर शव को ठिकाने लगाने की योजना बनाई गई.  सभी आरोपी शव लेकर कामाक्षीपाल्या पहुंचे. वहां नाले के पास फेंक दिया. इसके बाद थाने में जाकर सरेंडर कर दिया, जहां 30 लाख रुपए के विवाद की बात कही गई. पुलिस को आरोपियों की बात पर भरोसा नहीं हुआ, तो उनसे कड़ाई से पूछताछ की गई. इसके बाद आरोपियों ने सच उगल दिया.

उन्होंने बताया था कि रेणुका की हत्या करने के लिए 30 लाख रुपए की सुपारी दी गई थी. इसमें 5 लाख रुपए की अग्रिम राशि की भुगतान भी कर दी गई थी. पुलिस तफ्तीश में यह भी पता चला है कि एक्टर दर्शन ने कुछ रोज़ पहले ही रेणुका स्वामी के क़त्ल की सुपारी दी थी. इसके बाद उसके लोगों ने पहले रेणुका को ट्रैक करना शुरू किया. चित्रदुर्ग के रहने वाले रेणुका के बारे में हर छोटी बड़ी जानकारी जुटाई. उसे 8 जून को उसे धोखे से अगवा कर लिया.

रेणुका का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने उसके शरीर पर गर्म लोहे की रॉड से दागे जाने के निशान पाए. डॉक्टरों ने बताया कि उसकी नाक, जीभ काट डाली गई थी और जबड़ा भी तोड़ कर अलग कर दिया गया था. इसके साथ पूरे शरीर पर अनगिनत हड्डियां टूटी हुई थीं. ऐसा लगता था कि जैसे उसे दीवार से टकरा कर मारा गया है. उसके स्कल यानी खोपड़ी में फ्रैक्चर के निशान मिले.पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने ही इस केस का खुलासा किया है.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button