छत्तीसगढ़बिलासपुर

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे,जोनल मुख्यालय के सभा कक्ष में राजभाषा सम्मेलन 2023 एवं काव्य संध्या का आयोजन

बिलासपुर

विश्वज हिंदी दिवस के अवसर पर नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, बिलासपुर के तत्वावधान में  10 जनवरी बुधवार को अपरान्ह में दक्षिण पूर्व मध्या रेलवे, मुख्यालय बिलासपुर के जोनल सभा कक्ष में राजभाषा सम्मे लन-2023 एवं काव्य संध्या का सफल आयोजन मुख्यालय में किया गया।

व्याख्यान कार्यक्रम में श्री प्रवीण रंजन भारती, प्रबंधक, एनटीपीसी, बिलासपुर ने संसदीय राजभाषा समिति की प्रश्नावली विषय पर व्याख्यान दिया । श्री भारती ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से समिति के सदस्यों, संपर्क व्यक्तियों, निरीक्षण प्रश्नावली, संभावित प्रश्न, नाम पट्ट, वाहन, पावती, कार्यक्रम स्थल का विवरण इत्यादि विषयों के संबंध में विस्तातरपूर्वक बताया. इसके अलावा उन्होंने प्रतिभागियों द्वारा पूछे गये प्रश्नों का उत्तर देते हुए उनकी शंकाओं का समाधान किया ।

इसी क्रम में अगला व्याख्यान श्री फूल सिंह लोधी, वरिष्ठ अनुवादक हिंदी, बुनियादी तसर रेशम कीट बीज संगठन, बिलासपुर ने वॉइस डिक्टेशन एवं स्पीच टेक्सटर का प्रयोग विषय पर दिया. उन्होनें कार्यालयों में टंकण कार्य को सरल बनाने हेतु प्रतिभागियों को गूगल पर आॅनलाइन वॉइस डिक्टेरशन सुविधा का प्रयोग करते हुए वर्ड फाइल पर टाईपिंग करने के तरीके का प्रदर्शन किया एवं माइक्रोफोन पर डिक्टेवशन तथा स्पीेच टेक्सपटर आॅपशन का प्रयोग करना सिखाया. नराकास बिलासपुर के विभिन्नि सदस्य कार्यालयों के 40 से अधिक अधिकारियों/कर्मचारियों ने इस व्याख्यान में भाग लिया और इस अवसर पर साझा किए गए विषयों से लाभान्वित हुए ।

राजभाषा व्याख्यान कार्यक्रम के पश्चात लघु 'काव्य संध्याझ् आयोजित की गई जिसमें मुख्य अतिथि श्री भवानी शंकर नाथ, उपमहानिरीक्षक एवं मुख्य सुरक्षा आयुक्त?, रेलवे सुरक्षा बल, विशिष्ट अतिथि? श्री साकेत रंजन, मुख्यं जनसंपर्क अधिकारी, श्री हरिराम, मुख्य विद्युत इंजीनियर (ईईएम) एवं विशेष अतिथि श्री संतोष कुमार, वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी, बिलासपुर रहे. छत्तीसगढ़ की इस्पात नगरी भिलाई से हिंदी के गीतकार एवं कवि श्री किशोर कुमार तिवारी, बिलाईगढ़ से छत्तीेसगढ़ी एवं हिंदी के श्रेष्ठ हास्य कवि श्री बंशीधर मिश्रा, भाटापारा से लेखिका एवं कवयित्री सुश्री अन्न पूर्णा पवार आहुति, राजभाषा के प्रयोग एवं प्रचार-प्रसार में अग्रणी भूमिका निभाने वाले लेखक एवं स्तंभकार श्री साकेत रंजन, राष्ट्रीय एवं स्थानीय पुरस्कारों से सम्मानित, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के विद्युत विभाग में कार्यरत कवि एवं लेखक श्री राम रतन नाई, एवं सामाजिक सरोकार के कार्यों से जुडे द.पू.म.रे, बिलासपुर में लोको पायलट पद पर कार्यरत कवि एवं लेखक श्री राकेश कुमार श्रीवास पथिक ने शिरकत की. इस अवसर पर राजभाषा हिंदी की महत्ता, जन-जन के जीवन में इसका कल्याणकारी प्रभाव, हिंदी की महिमा, भाषा की प्रकृति एवं विशेषताओं से संबंधित ओज से भरपूर कविताएं, प्रेम व हास्य रस की कविताएं पढ़ी गईं जिसका श्रोताओं ने भरपूर आनंद लिया ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button