छत्तीसगढ़रायपुर

समूह की महिलाओं ने चुनी प्रकृति संग प्रगति की राह

अम्बिकापुर

मैनपाट जनपद के आदर्श गोठान कुनिया में रक्षा स्व सहायता समूह की महिलाओं ने मधुमक्खी पालन शुरू कर प्रकृति के साथ प्रगति की ओर कदम बढ़ाया है। महिलाओं ने पहली दो उत्पादन में 90 किलोग्राम शुद्ध  शहद उत्पादन कर  27 हजार रुपये की बिक्री कर लिए हैं।

जिला मुख्यालय अम्बिकापुर से करीब 55 किलोमीटर दूर एवं ऊंचाई पर स्थित मैनपाट में राज्य शासन की महत्वकांक्षी नरवा गरवा घुरवा और बाड़ी योजना के तहत गोठान निर्माण, बाड़ी विकास का कार्य तथा अन्य मल्टी एक्टीविटी से ग्रामीण आजीविका को बढ़ावा देने का कार्य किया जा रहा है। राज्य शासन द्वारा  प्रकृति के संग प्रगति पर बल दोय जा रहा है। ग्राम कुनिया गोठान में रक्षा स्व सहायता समूह की महिलाओं ने एनआरएलएम के सहयोग से  मधुमक्खी पालन कर शहद उतपादन शुरू किया। शहद उत्पादन से आय का स्रोत बढ?े से समूह की महिलाओं में उत्साह है तथा वे अन्य समूहों के लिए प्रेरणा स्रोत बन गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button