मंत्रियों ने अब तक नहीं बनाई जिले में भ्रमण की योजना

भोपाल
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अब मंत्रियों को आवंटित जिलों में उनके द्वारा किए जाने वाले दौरों की हर हफ्ते रिपोर्ट लेंगे। मंत्रियों की विजिट के दौरान सामने आए मसलों की रिपोर्ट सीएम सचिवालय को देना होगी जिसके आधार पर जरूरत के हिसाब से एक्शन लेने का काम सरकार करेगी। सरकार ने साफ संकेत दिए हैं कि उन्हें जिलों में जाना होगा। खासतौर पर गांवों में गरीब बस्तियों में उनकी उपस्थिति होनी चाहिए और इसका फीडबैक सरकार तक पहुंचना चाहिए।

सीएम चौहान ने एक पखवाड़े पहले मंत्रियों को साफ कर दिया था कि उन्हें जिलों में भ्रमण करना है पर अब तक इसका परफार्मेंस अच्छा नहीं आया है। मंत्रियों के दौरे अभी जिलों में तय नहीं हुए हैं जबकि सीएम जनसेवा अभियान शुरू हो चुका है। इसे देखते हुए अब मंत्रियों के दौरों में कसावट के संकेत मिले हैं। कुछ मंत्री तो अपने लिए आवंटित जिलों में पहुंचे हैं पर अधिकांश ने अब तक इसका प्लान ही तय नहीं किया है जबकि सीएम खुद जिलों में जाने लगे हैं। अब तक सिर्फ गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा और सुरेश धाकड़ ने अपने समूह वाले जिलों का दौरा किया है।

सीएम का साफ मत है कि मंत्री गरीब बस्तियों में भ्रमण और संपर्क कर वहां की स्थिति देखेंगे। वे बुद्धिजीवियों से भी चर्चा करेंगे। जन-सामान्य को जागरुक करने, योजनाओं की जानकारी देने के साथ योजनाओं के क्रियान्वयन और शासकीय गतिविधियों में कमी या दोष पाए जाने पर आवश्यक कार्यवाही भी मंत्रियों द्वारा जिलों में की जानी है। इसको लेकर मुख्यमंत्री ने एक बार फिर दोहराया है कि 31 अक्टूबर तक प्रदेश शासन के मंत्री, जनप्रतिनिधि, सरकारी अधिकारी और कर्मचारी गांव-गांव जाकर प्रत्येक पंचायत के वार्डों में शिविर लगाकर समस्या का समाधान करेंगे और पात्र हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र देंगे।

इन मंत्रियों की ड्यूटी लगी है यहां
दो-दो मंत्रियों का दो या तीन जिलों को लेकर जो मंत्री समूह बनाया गया है उसमें  मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा तथा सुरेश धाकड़ श्योपुर-सीधी और बैतूल, गोपाल भार्गव तथा ओमप्रकाश सकलेचा आगर-मालवा, सिंगरौली, झाबुआ और खंडवा, तुलसी सिलावट और  भारत सिंह कुशवाह भिण्ड, शिवपुरी, शाजापुर और रायसेन का दौरा करेंगे। मंत्री कुंवर विजय शाह और प्रद्युम्न सिंह तोमर मंडला, अनूपपुर और उमरिया, जगदीश देवड़ा और इंदर सिंह परमार ग्वालियर, बुरहानपुर और हरदा, यशोधरा राजे सिंधिया तथा ऊषा ठाकुर विदिशा, कटनी और नीमच, भूपेंद्र सिंह और मीना सिंह अशोक नगर, मुरैना, सतना और शहडोल जिले के गांवों में जाएंगे। इसी क्रम में प्रेम सिंह पटेल तथा ओ.पी.एस. भदौरिया निवाड़ी, पन्ना और नरसिंहपुर, कमल पटेल तथा गोविंद सिंह राजपूत देवास, दमोह और उज्जैन, बृजेंद्र सिंह यादव और राजवर्धन सिंह दत्तीगांव जबलपुर, छिंदवाड़ा और राजगढ़, विश्वास सारंग और बृजेंद्र प्रताप सिंह सिवनी, छतरपुर और खरगोन, अरविंद सिंह भदौरिया और रामकिशोर कावरे डिंडोरी, गुना, अलीराजपुर, रीवा तथा डॉ. प्रभुराम चौधरी और डॉ. मोहन यादव टीकमगढ़, होशंगाबाद, इंदौर, बड़वानी तथा महेंद्र सिंह सिसोदिया और हरदीप सिंह डंग भोपाल, सीहोर, दतिया और सागर के दौरे करेंगे।