टीम इंडिया की डेथ बॉलिंग के ये आंकड़े बढ़ाते हैं टेंशन, मोहम्मद शमी की सख्त जरूरत

नई दिल्ली
जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के रहते हुए टीम इंडिया को कभी डेथ बॉलर की कमी नहीं खली, लेकिन एशिया कप 2022 से टीम इंडिया की यह कमजोरी जगजाहिर हो चुकी है। टी20 वर्ल्ड कप 2022 में अब एक महीने से भी कम का समय बचा है, ऐसे में भारतीय टीम की इस कमी को पूरा करने के लिए क्या किया जाना चाहिए, इस पर जल्द ही फैसला लेने की जरूरत है। बात सिर्फ एक-दो मैचों की नहीं है, डेथ बॉलिंग को लेकर एक ऐसा आंकड़ा है, जो सच में इंडियन फैन्स के लिए डराने वाला है।

टी20 इंटरनेशनल में आखिरी चार ओवरों में सबसे महंगे भारतीय गेंदबाजों की लिस्ट (कम से कम 20 ओवर) में जो दो नाम सबसे पहले आते हैं, वे दोनों ही टी20 वर्ल्ड कप 2022 स्क्वॉड का हिस्सा हैं। हर्षल पटेल और भुवनेश्वर कुमार डेथ बॉलर के रूप में अच्छा विकल्प नहीं हैं। शमी टी20 वर्ल्ड कप स्क्वॉड का हिस्सा तो हैं, लेकिन वह स्टैंड बाय खिलाड़ियों की लिस्ट में हैं।

शमी को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की टी20 इंटरनेशनल सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुना गया था, लेकिन कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनको टीम से बाहर बैठना पड़ा और उनकी जगह उमेश यादव को पहला मैच खेलना पड़ा और उनकी जमकर धुनाई भी हुई। जसप्रीत बुमराह की वापसी से टीम इंडिया की टेंशन कम तो होती है, लेकिन दूसरे छोर के लिए शमी से बेहतर फिलहाल उनका कोई जोड़ीदार नजर नहीं आ रहा है। टी20 इंटरनेशनल में आखिरी चार ओवरों में सबसे महंगे भारतीय गेंदबाजों की लिस्ट (कम से कम 20 ओवर) में 11.50 के इकॉनमी रेट के साथ हर्षल पटेल टॉप पर हैं, जबकि दूसरे नंबर पर 9.49 के इकॉनमी रेट के साथ भुवनेश्वर कुमार हैं।