आदित्य ठाकरे ने केंद्र को भेजा पत्र, ओमिक्रॉन खतरे से बचने के तीन उपाय

नई दिल्ली
महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया को पत्र लिखकर कोविड -19 टीकाकरण के संबंध में तीन सुझाव दिए हैं। शिवसेना नेता ने एक पत्र में, केंद्र से बूस्टर शॉट्स की अनुमति देने, टीके के अंतर को कम करने और ओमिक्रॉन खतरे का हवाला देते हुए टीकाकरण के लिए कट-ऑफ उम्र को 15 तक लाने का आग्रह किया है। अपने ट्विटर अकाउंट पर पत्र को शेयर करते हुए महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया को ओमिक्रॉन खतरे से बचने के लिए तीन सुझाव दिए हैं। ठाकरे ने उन सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थकेयर वर्कर्स को बूस्टर शॉट देने अनुमति देने के लिए कहा है, जिन्होंने साल की शुरुआत में अपनी दोनों खुराकें प्राप्त कर ली थी।  आदित्य ठाकरे का कहना है, "विभिन्न डॉक्टरों के साथ मेरी बातचीत हुई। ऐसा लगता है कि टीकाकरण की न्यूनतम आयु को घटाकर 15 करना ठीक हो सकता है।" उन्होंने कहा कि यह "हमें माध्यमिक स्कूलों और जूनियर कॉलेजों को वैक्सीन सुरक्षा के साथ कवर करने में सक्षम करेगा।"

ठाकरे ने यह भी सिफारिश की कि व्यापक कवरेज के लिए खुराक के अंतर को कम किया जाए। ठाकरे का कहना है कि कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराकों के बीच गैप चार सप्ताह तक किया जाना चाहिए। बता दें कि देश में ओमिक्रॉन का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। पिछले महीने विदेश से लौटे दो शख्स ओमिक्रॉन संक्रमित पाए गए। दोनों टीके की दोनों खुराक ले चुके थे। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के 10 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। जबकि देश में कुल 23 मामले आ चुके हैं।