सितसिपास ने अपने पहले ग्रैंड स्लैम की उपविजेता ट्रॉफी दादी को की समर्पित

नई दिल्ली
यूनान के टेनिस स्टार स्टेफानोस सितसिपास ने पहली ग्रैंड स्लैम उपविजेता ट्रॉफी अपनी दादी को समर्पित की है, जो रविवार को अपने पोते के फाइनल से पांच मिनट पहले ही अपनी जिंदगी की जंग हार गईं। सितसिपास को फ्रेंच ओपन के फाइनल में दुनिया के नंबर एक सर्बियाई खिलाड़ी नोवाक जोकोविच के हाथों पांच सेट के मुकाबले में शिकस्त का सामना करना पड़ा।  

सितसिपास ने पहले दो सेट जीतकर शानदार शुरुआत की थी लेकिन इसके बाद तीनों सेट गंवा दिए। इस 22 वर्षीय खिलाड़ी ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर लिखा जिंदगी सिर्फ जीत हार नहीं है। और भी बहुत कुछ है। मैंने कल (रविवार) सिर्फ मैच ही नहीं गंवाया अपनी दादी को भी खो दिया। मेरे कोर्ट पर प्रवेश करने से पांच मिनट पहले मेरी सबसे प्यारी दादी जिंदगी की जंग हार गईं। मेरे कॅरिअर की यह पहली उपविजेता ट्रॉफी सिर्फ और सिर्फ उन्हीं को समर्पित है। मेरे पिता को पालने के लिए धन्यवाद। उनके बिना यह संभव नहीं होता।

दादी की मौत के चलते सितसिपास विंबलडन की तैयारियों से पहले होने वाले सोमवार से जर्मनी में शुरू हुए हाले ओपन से हट गए हैं। चौथे स्थान पर पहुंचे : रोलां गैरां के फाइनल तक का सफर तय करने के बाद सितसिपास एटीपी रैंकिंग में एक स्थान ऊपर चौथे नंबर पर पहुंच गए हैं। जोकोविच पहले, दानिल मेदवेदेव दूसरे और नडाल चौथे स्थान पर कायम हैं। डोमिनिक थिएम एक स्थान नीचे पांचवें नंबर पर खिसक गए।

भारतीय टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की जोड़ी हाले ओपन के अंतिम-16 में पहुंच गई। बोपन्ना-शरण ने पहले दौर में मोल्दोवा के राडू अल्बर्ट और जार्जिया के निकोलोज को 7-6, 6-4 से मात दी। अगले दौर में भारतीय जोड़ी की टक्कर फ्रांस के रोजर वेसलिन व पोलैंड के लुकाज कुबॉट की जोड़ी से होगा। टोक्यो ओलंपिक से पहले बोपन्ना और शरण एक-साथ उतरे हैं।

हालांकि अभी तक यह तय नहीं है कि यह भारतीय जोड़ी ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करेगी या नहीं। बोपन्ना ने फ्रेंच ओपन के क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय कर 40 अंक अर्जित किए जिससे वह दो स्थान ऊपर 38वें नंबर पर पहुंच गए हैं। वहीं पहले दौर में बाहर होने वाले शरण दो स्थान के नुकसान से 73 से 75वें नंबर पर खिसक गए। ओलंपिक के लिए 14 जून तक की रैंकिंग के आधार पर खिलाड़ियों को प्रवेश मिलेगा।