विनियोग लेखे तैयारी में देरी, महालेखाकार कार्यालय ने जताई नाराजगी

भोपाल
कोरोना महामारी का असर सरकारी महकमों की कार्यप्रणाली पर भी पड़ा है। अधिकांश विभागों ने अब तक प्रधान महालेखाकार को यह जानकारी नहीं दी है कि उन्होने कितना बजट समर्पित किया और कितना पुनर्विनियोजन किया गया। इसके चलते विनियोग लेखों को अंतिम रूप देने में विलंब हो रहा है। महालेखाकार कार्यालय ने इसको लेकर भारी नाराजगी जताई है।

सभी सरकारी महकमों को हर साल विभाग में समर्पित किए गए बजट की जानकारी और पुनर्विनियोजन की जानकारी उसके आदेश की प्रतियां प्रधान महालेखाकार कार्यालय को देना होता है। यह जानकारी इस साल तीस अप्रैल 2021 तक महालेखाकार कार्यालय को भेजी जाना थी। लेकिन कोरोना के कारण सरकारी दफ्तरों को कम कर्मचारियों की उपस्थिति से खोलने के निर्देश थे। लंबे समय तक लॉकडाउन के कारण भी कर्मचारी दफ्तर नहीं गए। इससे विभागों का काम प्रभावित हुआ। विभाग समय पर जानकारी तैयार नहीं कर पाए।

कई विभागों  द्वारा महालेखाकार कार्यालय को भी बजट समर्पण और पुनर्विनियोजन की जानकारी अब तक नहीं भेजी गई। विभागों से जानकारी नहीं आ पाने के कारण महालेखाकार कार्यालय अब तक वर्ष 20-21 के विनियोग लेखों को अंतिम रूप नहीं दे पाया है। प्रधान महालेखाकार कार्यालय ने मुख्य सचिव और वित्त विभाग के अधिकारियों को पत्र लिखकर विभागों की इस लेटलतीफी पर नाराजगी जताई है।

इसके बाद संचालक बजट आईरिन सिथिंया ने सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिवों को पत्र लिखकर महालेखाकार की नाराजगी से अवगत कराया है। सभी विभागों को तत्काल यह जानकारी महालेखाकार कार्यालय को भेजने को कहा गया है।

 संचालक बजट का पत्र आने के बाद अब सभी विभागों के वित्त से जुड़े अधिकारी-कर्मचारी जानकारियां जुटाने में लग गए है। प्रधान महालेखाकार कार्यालय को बजट समर्पण और पुनर्विनियोजन के संबंध में जारी किए गए आदेशों को एकत्रित कर भेजा जा रहा है।