बोरिस जॉनसन ने कहा- इंग्लैंड में लॉकडाउन अब 19 जुलाई तक जारी रहेंगी

लंदन
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सोमवार को लॉकडाउन संबंधी सभी पाबंदियों को समाप्त करने की अवधि को चार सप्ताह और टालते हुए इसे 19 जुलाई तक बढ़ा दिया। इससे पहले यह पाबंदियां 21 जून को समाप्त होने जा रही थीं।

जॉनसन ने कहा कि कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप के चलते संक्रमण के मामलों और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी संबंधी चिंता बरकरार है।

प्रधानमंत्री की इस घोषणा के साथ ही अब 'फ्रीडम डे' 19 जुलाई को मनाया जाएगा जो कि लॉकडाउन समाप्त होने की खुशी में मनाया जाना है।

जॉनसन ने कहा कि अभी थोड़ा और इंतजार करना बेहतर होगा। साथ ही उन्होंने उम्मीद जतायी कि 19 जुलाई पाबंदियों को समाप्त करने का अंतिम दिन होगा और इसे और विस्तार देने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा, अब हम 40 साल की उम्र से अधिक के लोगों को कोविड-19 टीके की दूसरी खुराक देने में तेजी लाएंगे ताकि उन्हें वायरस से अधिकतम सुरक्षा मिल सके।

ब्रिटेन में रविवार को कोरोना वायरस के 7490 नए मामले आए थे और आठ लोगों की मौत हुई थी। गत हफ्ते मामलों में उससे सात दिन पहले के मामलों की तुलना में 49 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है।

वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक-दूसरे से दूरी बनाने के सभी नियमों को खत्म करने में देरी करने का आग्रह किया है ताकि टीकाकरण का दायरा और बढ़ाया जा सके। साथ में बुजुर्गों को टीके की दूसरी खुराक दी जा सके और युवा आबादी को पहली खुराक लगाई जा सके।

कहा जा रहा था कि प्रधानमंत्री लॉकडाउन हटाने में देरी के लिए कोविड की तीसरी लहर को जिम्मेदार ठहरा सकते हैं और कह सकते हैं कि इससे जुलाई अंत तक लाखों और लोगों का टीकाकरण हो सकता है। साथ में पाबंदियों को खत्म करने में देरी से वैज्ञानिकों को डेल्टा स्वरूप की निगरानी करने के लिए और समय मिल जाएगा। वायरस का यह स्वरूप सबसे पहले भारत में पहचाना गया था।