कोरोना से दिवंगत हुए कर्मचारियों के परिजनों को उसी पद पर नौकरी

भोपाल
शिवराज सरकार ने फैसला किया है कि कोरोना के कारण जान गंवाने वाले कर्मचारियों के परिजन को अनुकंपा नियुक्ति उसी पद पर दी जाएगी जिस पद पर कर्मचारी कार्यरत था। इसका लाभ निगम- मंडलों में कार्यरत कर्मचारियों के परिजनों को भी मिलेगा, चाहे वह संविदा पर ही क्यों न नियुक्त रहे हों। ऐसे कर्मचारियों के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति पत्र देने के लिए क्षेत्र के सम्मानित जनप्रतिनिधि या संबंधित विभाग के मंत्री उनके घर जाएंगे।

यह जानकारी गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने दी। यहां उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कोविड 19 अनुकम्पा नियुक्ति योजना के नाम से कोरोना से दिवंगत कर्मचारियों के परिजनों को सेवा में रखने का निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 17 मई को लिया था। इसमें कहा गया है कि समस्त नियमित, स्थायीकर्मी, कार्यभारित, आकस्मिकता निधि से वेतन पाने वाले, दैनिक वेतन भोगी, तदर्थ, संविदा, कलेक्टर दर और आउटसोर्स के रूप में कार्यरत कर्मचारियों के लिए यह योजना बनाई गई है। इसमें यह भी कहा गया है कि कर्मचारियों को उसी प्रकार के नियोजन में नियुक्ति दी जाएगी। सीहोर के रिसार्ट में हुई मंथन बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है।

सीहोर में हुई बैठक में हुए निर्णय से जीएडी के अफसरों ने अनभिज्ञता जाहिर की है। सचिव जीएडी श्रीनिवास शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री अनुकम्पा नियुक्ति योजना में इस तरह की व्यवस्था सिर्फ क्लास 3 व क्लास 4 के पदों के मामले में की गई है। बाकी के पदों के लिए अभी तक कोई ऐसा निर्णय जानकारी में नहीं आया है। तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के मामले में सरकार के निर्देश के बाद विभाग अपनी प्रक्रिया पूरी कर रहे हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि अब तक जीएडी के पास ऐसी कोई सूचना नहीं है कि कोरोना के कारण पिछले तीन माह में कितने अधिकारी कर्मचारियों की मौत हो चुकी है। यह काम भी विभाग अपने स्तर पर ही देख रहे हैं और उस मामले में भी नियमानुसार अनुकम्पा नियुक्ति की कार्यवाही कर रहे हैं।