प्रशिक्षित एवं अनुभवी कारीगरों को प्रमाण-पत्र के साथ मिलेगा पारितोषिक

रायपुर
प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 3.0 के अंतर्गत रिकोग्निशन आॅफ प्रायर लर्निग (आर.पी.एल.) के तहत् पूर्व प्रशिक्षित एवं अनुभवी कारीगरों को उनकी योग्यता एवं अनुभव के आधार पर कौशल प्रमाण पत्र प्रदान किया जाना है, ताकि उन्हें बेहतर आजीविका प्राप्त हो सके।

सहायक संचालक जिला कौशल विकास प्राधिकरण रायपुर ने बताया कि इस हेतु इलेक्ट्रिशियन, फिटर, वेल्डर, मशरूम ग्रोअर, नर्सरी वर्कर, एल.ई.डी. लाईट रिपेयर, बेकिंग टेक्नीशियन, बी.पी.ओ, नॉन वाईस, अगरबत्ती मेकर, बेम्बु युटिलिटी हैण्डीक्राफ्ट आदि व्यवसायों में अनुभवी कारीगर 15 मार्च 2021 तक कलेक्टोरेट कक्ष क्रमांक-10 या लाईवलीहुड कॉलेज जोरा रायपुर में आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन करने वाले कारीगरों को जिला परियोजना लाईवलीहुड कॉलेज सोसायटी, जोरा, रायपुर एवं स्किल इंडिया पोर्टल में पंजीकृत ट्रेनिंग सेंटर के माध्यम से प्रशिक्षण एवं सर्टिफिकेशन दिया जाएगा। यह प्रमाणीकरण प्रशिक्षण कुल 4 दिवस को होगा ,जिसमें प्रतिदिन अधिकतम 6 घण्टे का प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षण अवधि में हितग्राहियों को यूनिफार्म, प्रशिक्षण किट आदि नि:शुल्क प्रदान किया जायेगा।

किसी व्यवसाय में प्रशिक्षणार्थियों की संख्या 10 या उससे अधिक होने पर ही प्रशिक्षण प्रारंभ किया जायेगा। वे अनुभवी कारीगर जिनकी आयु 18 वर्ष से 45 वर्ष के मध्य होगी वे प्रशिक्षण हेतु पात्र होंगे। हितग्राहियों के पास आधार नंबर एवं आधार लिंक्ड बैंक खाता होना अनिवार्य होगा। ट्रेनिंग सेंटर से प्रशिक्षण उपरांत जिन हितग्राहियों को मूल्यांकन में 30 प्रतिशत या अधिक अंक प्राप्त होंगे उन्हें स्किल सर्टिफिकेट प्रदान करते हुए 500 रुपए की राशि उनके बैंक खाते में पारितोषिक के रूप में दी जाएगी। जिन हितग्राहयों को मूल्यांकन में 30 प्रतिशत से कम अंक प्राप्त होंगें उन्हें सिर्फ स्किल सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा। सर्टिफाईड हितग्राहियों का 3 वर्ष का कौशल बीमा भी किया जाएगा।