उद्योग जगत से प्राप्त सुझावों को नई शिक्षा नीति में करेंगे शामिल: उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव

 भोपाल

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि मध्यप्रदेश में लागू की जा रही नई शिक्षा नीति में उद्योग जगत से प्राप्त सुझावों को ध्यान में रखा जाएगा। खाद्य पदार्थो सहित अन्य वस्तुओं में मिलावट की जाँच करने संबंधित पाठ्यक्रमों को भी शामिल किया जाएगा। मंत्री डॉ. यादव मंत्रालय में आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के अंतर्गत परिणाम आधारित शिक्षण और रोजगार सुनिश्चित करने के लिए उद्योग जगत से प्राप्त इनपुट के आधार पर स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम के पुनरीक्षण पर चर्चा कर रहे थे।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के लिए उच्च शिक्षा विभाग द्वारा शामिल किए गए घटकों में मध्यप्रदेश में उच्च शिक्षा नीति का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन भी शामिल है। उन्होंने कहा कि इसके लिए अभी तक कंप्यूटर एवं इलेक्ट्रॉनिक, वाणिज्य सहित विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों से सुझाव लिए गए हैं। नई शिक्षा नीति को लागू करने में उद्योग जगत की भी महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

बैठक में उद्योग जगत से जुड़े व्यक्तियों ने शिक्षा में ज्ञान के साथ-साथ कुशलता एवं दृष्टिकोण के बिंदुओं को शामिल करने तथा व्यावहारिक ज्ञान एवं रोजगारमूलक शिक्षा पर जोर दिया। बैठक में प्रभारी आयुक्त उच्च शिक्षा  चंद्रशेखर वालिम्बे सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।