PM सिलाई मशीन योजना के नाम पर करते थे ठगी, पुलिस ने ऐसे पकड़ा

लखनऊ 
लखनऊ पुलिस के मुताबिक वो प्रधानमंत्री सिलाई मशीन योजना के तहत लोगों से ठगी कर अपना ऑफिस बंद कर फरार हो जाते थे. उत्तर प्रदेश के लखनऊ में पुलिस ने एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो प्रधानमंत्री सिलाई मशीन योजना के नाम पर लोगों को ठगते थे. आरोपियों ने इससे पहले अलीगढ़, फर्रुखाबाद, शाहजहांपुर और बहराइच में भी लोगों से करोड़ों की ठगी की है. पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. जानकारी के मुताबिक, लखनऊ के थाना चिनहट स्थित कमाता के पास इस गिरोह ने अपना ऑफिस खोल रखा था. 

ये लोग जो महिला कल्याण संस्था एवं प्रधानमंत्री सिलाई मशीन योजना 2020 के तहत फर्जी संस्था खोलकर लोगों से ठगी करते थे.पुलिस आयुक्त पूर्वी संजीव सुमन के मुताबिक, इस गिरोह के तीन सदस्य मैनेजर और डायरेक्टर बनकर लोगों के बीच जाते थे और प्रधानमंत्री सिलाई मशीन योजना 2020-21 की बात करके उनको फर्जी एनजीओ के माध्यम से जोड़ते थे. ये लोग पम्पलेट, स्टीकर, मुहर सहित फर्जी आईडी दिखा कर यह काम करते थे. 

लोगों से पैसे ऐंठने के बाद ये लोग अपना ऑफिस बंद कर फरार हो जाते थे.पुलिस के मुताबिक ठगी में शामिल मैनेजर वेद प्रकाश भारती व विरेंद्र कुमार गंगवार और राज प्रताप सिंह जिलों में फर्जी ऑफिस खोलकर लोगों के साथ करोड़ों की ठगी कर चुके है. अब लखनऊ में कार्यालय खोलकर लोगों से ठगी कर रहे थे. इनके  पास से महिला संस्था प्रधानमंत्री सिलाई मशीन योजना के दस्तावेज, 25 रिक्त फार्म, सोनू ग्रामोत्थान कल्याण संस्थान टीचर फॉर्म जैसे अन्य सामान बरामद किए गए हैं.