नगरीय निकायों में जांच शिविरों में आएगी तेजी, वीडियो काॅन्फेंसिग के जरिए कलेक्टर ने नगर अध्यक्षों सहित पार्षदों से की बात 

बलौदाबाजार 
मौसम के तापमान गिरने के साथ ही कोरोना संक्रमित मरीजों की सँख्या में तेजी आ सकती है। ऐसे संकेत केंद्र  एवं राज्य सरकार ने दिए है। साथ ही हाल के दिनों में त्यौहारों का सीजन होने से लोगों की आवाजाही एवं चहल पहल में तेजी आयी है। जिससे कोरोना का संक्रमण और बढ़ रहा है। कुछ दिनों से लोगों में कोरोना से सुरक्षा  प्रति लापरवाही भी बरती जा रहा है।  जिले में ऐसी गंभीर स्थिति को देखते हुए कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने जिले के सभी नगरीय निकायों के जनप्रतिनिधियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत की है। उन्होंने कहा की जनप्रतिनिधि जनता एवं प्रशासन के बीच की महत्वपूर्ण कड़ी हैं। कोरोना की भयावहता से जनता को जागरूक कर उन्हें कोरोना जांच के  लिये प्रेरित करें। जिला प्रशासन सभी नगरीय निकायों के विभिन्न वार्डों में शीघ्र ही जांच शिविरों का आयोजन किया जायेगा। इन शिविरों में आम व्यक्तियों को जांच के लिए प्रेरित करना आप सभी का दायित्व है। कलेक्टर ने कहा कि समय पर कोरोना की जांच जरूरी है। ज्यादा विलंब होने पर मौत की संभावना अधिक बढ़ जाती है। इस लिए अधिक से अधिक व्यक्तियों की जांच होने से संक्रमित व्यक्तियों की पहचान कर संक्रमण से बचाया जा सकता है। कलेक्टर श्री जैन ने जिले के सभी नगरीय निकायों के अध्यक्ष एवं पार्षदों से बारी-बारी से चर्चा की।उन्होंने कहा कि कोरोना का सबसे बढ़िया इलाज इसकी समय पर पहचान करना है। यदि पहचान में देरी अथवा चूक हो गई तो एक सप्ताह में वह पूरे नगर सहित जिले में भी कोरोना फैला देगा। बातचीत के दौरान कुछ पार्षदों ने कलेक्टर को सकारात्मक सुझाव भी दिए जिसे श्री जैन ने  स्वीकार करते हुए शीघ्र सुझावों के अनुरूप कार्य योजना बनाने का आश्वासन दिए है। साथ ही कलेक्टर ने कोरोना संबधी सामाजिक व्यवहार जैसे छह फीट कीद दूरी, घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाना और बार-बार हाथ धोना और सेनिटाईजर का उपयोग करने की समझाईश को फिर से दोहराया। साथ ही नगरीय निकायों में कोरोना नियमों के उल्लंघन करनें पर चलानी कार्रवाई तेज करने के निर्देश सभी नगरीय प्रशासन के अधिकारियों को दिए है। उन्होंने कहा कि सरकार काफी समझाईश दे चुकी है। अब उल्लंघन पर कड़ी कार्रवाई का समय आ चुका है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.खेमराज सोनवानी ने कोविड के लक्षण बताए। उन्होंने कहा कि बुखार, सर्दी, खांसी, स्वाद चला जाना और सुंघने की शक्ति  का हास् होना प्रमुख लक्षण है। बैठक के दौरान जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की एवं डूडा नोडल अधिकारी राजेश्वरी पटेल उपस्थित थे।