हार्ट को स्ट्रोक के खतरे से सुरक्षित रखने के लिए रोज दो अखरोट

कार्डिएक हेल्थ यानी हृदय को स्वस्थ बनाए रखने के लिए आपके शरीर को कई तरह के पोषक तत्वों की जरूरत होती है। ओमेग-3 फैटी एसिड इनमें से एक मुख्य तत्व है। जो लोग नॉनवेज खाते हैं, उन्हें मुख्य रूप से फिश खाने पर इस फैटी एसिड की प्राप्ति हो जाती है। जबकि शाकाहारी लोगों को इसकी प्राप्ति के लिए अपनी डायट पर कहीं अधिक ध्यान देने की जरूरत होती है। ताकि उनके दिल का हाल सही बना रहे…

यदि आप पूर्ण रूप से शाकाहारी हैं तो आपको अपने दिल की सेहत बनाए रखने के लिए नियमित रूप से ड्राई फ्रूट्स का सेवन करना चाहिए। इनमें भी खासतौर पर अखरोट का। अखरोट खाने से आपके शरीर को ओमेगा-3 फैटी एसिड की प्राप्ति होगी और आपके हार्ट के साथ ही आपका ब्रेन भी हेल्दी बना रहेगा।

-अखरोट में प्रोटीन, कैल्शियम, विटमिन-ई, विटमिन-बी6, कॉपर, जिंक, मैग्निशियम, पोटैशियम और सेलेनियम जैसे तत्वों की संतुलित मात्रा पाई जाती है।

-इस कारण अखरोट शरीर के अंदर ब्लड के फ्लो को नियंत्रित करने में सहायता करता है। इससे हाई बीपी और हार्ट स्ट्रोक का खतरा कम होता है। यदि आप नियमित रूप से दिन में 2 से 3 अखरोट हर दिन खाते हैं तो आपके दिल की सेहत में सुधार बना रहता है। ध्यान रखें कि हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, एक दिन में 5 से अधिक अखरोट का सेवन करना नुकसानदायक हो सकता है। जबकि दो से तीन अखरोट लेने पर सेहत दुरुस्त रहती है।

-अखरोट में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड हानिकारक कोलेस्ट्रोल की मात्रा कम करता है और गुड कोलेस्ट्रोल की वृद्धि में सहायता करता है। इससे शरीर में शुगर का स्तर भी सही बनाए रखने में मदद मिलती है। ये 5 काम करने से पहले कभी नहीं खाने चाहिए मूली के पराठे

-आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि जो लोग नियमित रूप से अखरोट खाते हैं या सप्ताह में दो से तीन बार मछली का सेवन करते हैं, उनके शरीर में ब्लड क्लोटिंग की समस्या नहीं होती है।

-क्योंकि ओमेगा-3 फैटी एसिड रक्त के अंदर की कोशिकाओं को आपस में चिपककर जमा होने से रोकता है। इससे नसों के अंदर रक्त का प्रवाह बाधित नहीं हो पाता है और आप आर्टरी ब्लॉकेज की समस्या से दूर रहते हैं। कामेच्छा बढ़ाने का काम करती हैं ये तीन चीजें, महिलाएं भी कर सकती हैं सेवन

-'अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता' आपने यह कहावत जरूर सुनी और पढ़ी होगी। इसी तर्ज पर आपको अखरोट खाने से हृदय को सेहतमंद रखने में सहायता तो मिलेगी। लेकिन पूरे पोषण के लिए जरूरी है कि आप साथ में हरी सब्जियां, दाल, हरी फलियां और चटख रंग के फल और सब्जियां अपनी डायट में शामिल करें। ताकि आपके हृदय को सेहतमंद रखने के लिए आपके पाचनतंत्र को सभी जरूरी तत्वों की प्राप्ति हो सके।

-नियमित रूप से वॉक करना, सीढ़ियां चढ़ना, रस्सी कूदना, सही समय पर सोना और जागना इत्यादि। ऐसी गतिविधियां हैं जो आपको हार्ट अटैक और हार्ट स्ट्रोक के खतरे से बचाती हैं। मूली देखकर खुश हो जाते हैं आंतों के गुड बैक्टीरिया, जानें समय के अनुसार मूली खाने का सही तरीका

-ओमेगा-3 फैटी एसिड जितना जरूरी हार्ट की गुड हेल्थ के लिए है, उतना ही जरूरी दिमाग की सेहत के लिए भी है। क्योंकि यह तनाव को कम करने और याददाश्त को सही बनाने का कार्य करता है।