विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं के लिए 24 करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृति

रायपुर
राज्य शासन ने छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में सिंचाई परियोजनाओं के निर्माण एवं जीर्णोद्धार कार्य के लिए 24 करोड़ 34 लाख 17 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की है। इन परियोजनाओं के निर्माण एवं जीर्णोद्धार का कार्य पूर्ण होने के उपरांत 2221 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

जल संसाधन विभाग मंत्रालय, महानदी भवन द्वारा जारी आदेशानुसार दुर्ग जिले के विकासखण्ड पाटन की औरी जलाशय के जीर्णोद्धार एवं नहर प्रणाली का रिमाडलिंग तथा लाइनिंग कार्य के लिए दो करोड़ 21 लाख 21 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी गयी है। कार्य के पूर्णता से 155 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड दुर्ग की भेण्डसर नाला जलाशय के जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 87 लाख 41 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। कार्य के पूरा होने से 260 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड दुर्ग की रिसामा एल.पी. जलाशय जीर्णोद्धार एवं लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ एक लाख 16 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 55 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। दुर्ग के भेण्डरवानी जलाशय का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए दो करोड़ 55 लाख 86 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 324 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

विकासखण्ड पाटन की झाड़मोखली जलाशय का वेस्ट वियर एवं शूटफाल का जीर्णोद्धार एवं नहर का रिमाडलिंग तथा लाईनिंग कार्य के लिए दो करोड़ सैतीस लाख 43 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 124 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन की कसही स्टापडेम निर्माण कार्य के लिए एक करोड़ दो लाख 69 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 20 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन की सिपकोना डिस्ट्रीब्यूटरी के किकिरमेटा माईनर नहर का लाईनिंग कार्य के लिए दो करोड़ 41 लाख 74 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूर्णता पर 585 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन की गुजरा नाला पर ग्राम मटिया के पास स्टापडेम निर्माण कार्य के लिए एक करोड़ 20 लाख पांच हजार रूपए स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 15 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन की मोखली स्टापडेम निर्माण कार्य के लिए 92 लाख 95 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 15 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन की गुजरा नाला पर खोरपा-खम्हरिया स्टापडेम सह रपटा निर्माण कार्य के लिए एक करोड़ 49 लाख 84 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 50 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन की मटिया व्यपवर्तन योजना के शीर्ष कार्य का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ आठ लाख 78 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 222 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन की अमेरी जलाशय योजना के शीर्ष कार्य का जीर्णोद्धार एवं नहर प्रणाली का रिमॉडलिंग एवं लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 79 लाख 81 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 16 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन की मटंग जलाशय शीर्ष कार्य एवं नहरों का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 22 लाख एक हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 184 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड दुर्ग की करंजा भिलाई जलाशय सुधार कार्य एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 77 लाख 93 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 194 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। कबीरधाम जिले के विकासखण्ड सहसपुर लोहारा के सुतियाघाट जलाशय की दांयी तट नहर कार्य के लिए एक करोड़ 35 लाख 30 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है।