जब तक दवाई नहीं – तब तक ढिलाई नहीं संदेश लेकर कोरोना जागरूकता रथ रवाना

रायपुर
छत्तीसगढ़ में कोविड 19 कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जनमानस के बीच जागरूकता का संचार करने के उद्देश्य से जागरूकता रथ रवाना किया गया। भारत सरकार, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के रीजनल आउटरीच ब्यूरो (आरओबी), रायपुर एवं पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), रायपुर के अपर महानिदेशक, सुदर्शन पनतोड़े ने छत्तीसगढ़ संवाद भवन, छोटापारा, रायपुर से हरी झंडी दिखाकर कला जत्थे के साथ जागरूकता रथ को रवाना किया।

इससे पूर्व कार्यक्रम स्थल छत्तीसगढ़ संवाद भवन प्रांगण में आरओबी के पंजीकृत संस्था छत्तीसगढ़ी लोककला मंच नवाअंजोर के कलाकारों ने कोविड-19 कोरोना रोकथाम के लिए जागरूकता गीत एवं नृत्य की मनमोहक प्रस्तुति दी गयी। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने कोरोना के बचाव के लिए देशव्यापी अभियान की शुरूआत सितम्बर माह में की थी। इस अभियान का ध्येय वाक्य है जब तक दवाई नहीं – तब तक ढिलाई नहीं है। शहर की घनी आबादी, बाजार, चौक चैराहों, कॉलोनियों में इस जागरूकता रथ के जरिये संदेश दिये जायेंगें साथ ही पाम्फलेट भी बाटें जाएंगे। वाहन को कोरोना संदेशों पर आधारित फ्लैक्स से कवर किया गया है। वाहन में लगे माईक सिस्टम के जरिये कोरोना गीत ,बचाव एवं सावधानियों के रिकार्डेड संदेश प्रसारित किए जा रहें हैं।

इस अवसर पर आरओबी रायपुर के कार्यालय प्रमुख शैलेष फाये, पत्र सूचना कार्यालय के निदेशक, कृपाशंकर यादव, सहायक निदेशक, सुनील तिवारी, यूनीसेफ के स्टेट एसबीसीसी कन्सलटेंट, रूटीन इमुनाइजेशन, शिशिर सेठ एवं अन्य कर्मचारीगण उपस्थित थे।