ममता सरकार देगी  जून 2021 तक गरीबों को मुफ्त राशन, मेट्रो चलाने के लिए मांगी केंद्र की मंजूरी

 कोलकाता 
वैश्विक महामारी से पैदा हुए हालात को देखते हुए पश्चिम बंगाल में गरीबों को 'मुफ्त राशन' देने की योजन को आगे बढ़ा दिया गया है। अब उन्हें इसका फायदा जून 2021 क मिलता रहेगा। प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार (30 जून) को यह ऐलान किया। इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्रालय से यह मांग की है कि राज्य में मेट्रो सेवा को शुरू करने की इजाजत दी जाए, ताकि जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को इसका फायदा मिल सके।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने जून 2021 तक लाभार्थियों को मुफ्त राशन देने की घोषणा करते हुए कहा कि  केंद्र सरकार को देश की पूरी आबादी को मुफ्त राशन देना चाहिए।
 
ममता ने आगे कहा, "आज मुख्य सचिव राजीव सिन्हा ने केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला को पत्र लिखा है। इसमें यह मांग की गई है कि जिस तरह से अंतर्राष्ट्रीय हवाई सेवाओं पर 15 जुलाई तक प्रतिबंध है, उसी तरह हॉटस्पॉट वाले स्थानों से कोलकाता आने वाली घरेलू उड़ानों पर भी पाबंदी लगाई जाए और जरूरी सवाओं से जुड़े लोगों के लिए मेट्रो को शुरू किया जाए।" 
 
इससे पहले कोरोना महामारी के कारण चौतरफा मार झेल रहे देश के गरीब तबके को बड़ी राहत देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार नवम्बर तक करने का ऐलान किया जिसके तहत गरीब परिवारों के प्रत्येक सदस्य को हर महीने पांच किलो गेहूं या चावल और एक किलो चना मुफ्त दिया जाएगा। उन्होंने कहा, “योजना के इस विस्तार में 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे। अगर इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दें तो ये करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपए हो जाता है।”